संकल्प

एक संत के पास एक भक्त आया ,उसने पूछा प्रभु दुनिया में सबसे कठोर क्या है?संत ने उत्तर दिया जिस पर मै  बैठा हूँ वह पत्थर।भक्त ने पूछा पत्थर से भी कठोर क्या है तो संत ने जवाब दिया लोहा जो पत्थर को भी काट देता है इस तरह लोहे से बलशाली अग्नि और अग्नि से भी बलवान पानी .पानी से भी बड़ा क्या है? तो संत का जवाब था इंसान का संकल्प .यदि इंसान संकल्प कर ले तो भागीरथ बनकर गंगा को स्वर्ग से धरती पर ले आये।संकल्प की वजह से एक पाव इमली के दाने एक आने में बेचकर अपनी पुस्तक जुटाने वाला इंसान आज दुनिया का वैज्ञानिक  व भारत का राष्ट्रपति होने का गौरव प्राप्त करता है वह महानुभाव है अब्दुल कलाम आजाद।संकल्प की ताकत को पहचाने और अपनी ज़िन्दगी में कुछ अच्छे संकल्प लेकर अपने और समाज के लिए कुछ अदभुत कर जाएँ।